बेसन के लड्डू बनाते समय इन 8 बातों का ध्यान रखें । Besan ladoo with Tips and Trickstopjankari.com

बेसन के लड्डू बनाते समय इन 8 बातों का ध्यान रखें । Besan ladoo with Tips and Tricks

बेसन के लड्डू बनाते समय इन 8 बातों का ध्यान रखें । Besan ladoo with Tips and Tricks.

save water save tree !

इस बार टिप्स और ट्रिक को ध्यान में रखते हुए बनाएं बेसन लड्डू जो बाजार के लड्डू से भी बहुत ज्यादा स्वादिष्ट बन कर तैयार होंगे.

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Besan ladoo 

बेसन - 2 कप (250 ग्राम)
चीनी - 1 कप (250 ग्राम)
घी - 1 कप (250 ग्राम)
खरबूजे के बीज - ¼ कप
इलायची पाउडर - 1 छोटी चम्मच
जायफल - 1

तगार बनाएं

पैन में चीनी डाल कर इसमें ⅓ कप पानी डाल दीजिए और पैन को गैस पर रख दीजिए चीनी को पानी में घुलने तक पकाएं. चीनी के पानी में घुल जाने के बाद चाशनी को लगातार चलाते हुए सफेद होने तक और जमने वाली कंसीस्टेंसी तक पकाना है. (अगर आपकी चीनी साफ न हो तो चीनी में थोड़ा सा दूध डालकर इसपर पहली बर बनी हुई झाग को हटा लीजिए आपकी चाशनी साफ हो जाएगी).

चाशनी के सफेद हो जाने और जमने वाली कंसीस्टेंसी तक पक जाने पर घी डाल कर अच्छे से मिक्स कर दीजिए. घी डाल देने से तगार में डेले या गुठलियां नहीं बनती हैं. अब गैस बंद कर दीजिए और चाशनी को लगातार चलाते हुए ठंडा कीजिए तगार बन कर तैयार है.

बेसन भूनें और लड्डू बनाएं

कढा़ई को गैस पर रखें, इसमें 75% यानी के 175 ग्राम घी डाल दीजिए और बाकी घी बचा लीजिए. बेसन को भी घी में डाल दीजिए और बेसन को धीमी आंच पर  लगातार चलाते हुए भून लीजिए. बेसन में अगर घी कम लग रहा हो तो बचे हुए घी में से थोड़ा घी बेसन में डाल कर मिक्स कर दीजिए. बेसन में अच्छी महक आने पर और बेसन के हल्का डार्क कलर होने तक बेसन को भूनना है.

बेसन में से अच्छी महक आ रही है और रंग भी डार्क हो गया है बेसन भून कर तैयार है. बेसन में बिलकुल थोड़ा सा पानी का छींटा डाल दीजिए, ऎसा करने से बेसन के कण फूल जाते हैं और बेसन में अच्छे दाने बन जाते हैं.

बेसन को थोडा़ और भून लीजिए जिससे की बेसन का पानी खत्म हो जाए. बेसन अच्छे से भून कर तैयार है गैस बंद कर दीजिए और बेसन को ओर 1-2 मिनिट लगातार चलाते रहें क्योंकि कढ़ाई अभी भी गरम है और बेसन सिक रहा है. बेसन को अच्छे से चलाने के बाद इसे अलग प्याले में निकाल लीजिए जिससे की बेसन जल्दी से हल्का ठंडा हो जाए.

जब तक बेसन हल्का ठंडा होता है तब तक खरबूजे के बीज को भून लीजिए. पैन को गैस पर रखें और पैन में खरबूजे के बीज डाल कर इन्हें लगातार चलाते हुए बीजों के हल्का सा कलर चेंज होने और फूल-फूले से दिखाई देने तक इन्हें भून लीजिए.  बीजों के भून जाने पर इन्हें प्याले में निकाल लीजिए.

बेसन का मिश्रण भी हल्का ठंडा होने पर, हाथ से छुआ जा रहा हो तो इसमें तगार डाल दीजिए. साथ ही इसमें खरबूजे के बीज, इलायची पाउडर, और जायफल को कद्दूकस करके इसमें मिला दीजिए और सारी चीजों को अच्छे से मिक्स करते हुए मिला लीजिए.

लड्डू बनाने के लिए मिश्रण तैयार है. मिश्रण में से थोडा़ सा मिश्रण लेकर गोल-गोल लड्डू बना लीजिये. ( लड्डू आप अपने अनुसार छोटे या बड़े साइज के जैसे चाहें बना सकते हैं ). इतने मिश्रण से लगभग 16 लड्डू बन कर तैयार हो जाते हैं.  

बेसन के लड्डू तैयार है. बेसन के लड्डू को पूरी तरह से ठंडा हो जाने और खुश्क हो जाने के बाद एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिये और पूरे 10-11 महिने तक इन्हें खाने के लिए उपयोग कर सकते हैं. इनकी शैल्फ लाइफ बहुत अच्छी रहती है. आप दिए हुए सुझावों को ध्यान में रखते हुए लड्डू बनाएं आपके लड्डू बहुत अच्छे और स्वादिष्ट बनकर तैयार होंगे.

सुझाव

बेसन के लड्डू दानेदार नहीं बनते हैं ?

बेसन के लड्डू दानेदार बनाने के लिए मोटे बेसन की आवश्यकता होती है और तगार की भी.

तगार भी दो तरह की होती है - एक बूरा और दूसरी करारा.

बूरा बारीक तगार है और करारा तगार दानेदार होती है. लड्डू दानेदार बनाने के लिए बूरा और करारा दोनों को बराबर मात्रा में मिलाकर लड्डू के लिए उपयोग किया जाता है जिससे लड्डू दानेदार बनते हैं. अगर आप घर पर तगार बना रहे हैं तो फिर आप को बूरा और करारा की जरुरत नहीं है. आप सिर्फ अपनी बनाई हुई तगार मिला कर ही लड्डू बनाएं आपके लड्डू अच्छे दानेदार और स्वादिष्ट बन कर तैयार होंगे.

बेसन में गुठलियां पड़ जाती हैं ?

बेसन को लगातार चलाते हुए भूनें तो गुठले नहीं पड़ेंगे. अगर गुठले पड़ भी रहे हैं तो उन्हें कल्छी से दबाते हुए हटाते जाएं बिलकुल भी गुठलियां नहीं बनेंगी.

लड्डू खाते समय बेसन गले में चिपकता है ?

अगर बेसन कच्चा रह गया हो उसे सही से नहीं भूना गया हो, तभी वह खाते समय गले में चिपकता है. बेसन को धीमी आंच पर लगातर चलाते हुए तब तक भूनना होता है, जब तक की बेसन में से अच्छी खुश्बू न आ जाए और बेसन का कलर थोड़ा सा डार्क न हो जाए.

बेसन का कच्चापन भूनने पर भी नहीं जाता है ?

बेसन को धीमी आंच पर ही सेकना चाहिए. अगर आप बेसन को तेज आंच पर सेकते हैं तो बेसन कहीं से सिक जाता है और कहीं से कच्चा रह जाता है. इसलिए बेसन का स्वाद कच्चा लगता है.

लड्डू एकदम डार्क कलर के हो जाते हैं ?

बेसन के अच्छे से भून जाने पर गैस बंद कर दीजिए और उसके बाद भी बेसन को लगातर चलाते हुए पकाते रहें क्योंमि कढा़ई गरम है और अगर हम बेसन को चलाना छोड़ देंगे तो बेसन नीचे से डार्क हो जाएगा और जब हम इसे मिलाएंगे तो हमारे सारे लड्डू डार्क कलर के हो जाएंगे. इसलिए गैस बंद करने के बाद भी बेसन को लगातार चलाना बंद न करें.

भूना हुआ बेसन एकदम पतला क्यों हो जाता है ?

अगर गरम गरम भूने हुए बेसन में ही चीनी या तगार को डाल देते हैं तो यह घुल जाएगी और बेसन का मिश्रण पतला हो जाएगा, फिर इससे लड्डू नहीं बंध पाते हैं.

मिश्रण बिखर जाता है और लड्डू बंध नही पाते ?

अगर बेसन बहुत ज्यादा ठंडा हो गया हो और उसमें हम तगार मिला कर मिक्स करें तो मिश्रण अच्छे से नही बन पाता है और वह बिखर जाता है और लड्डू नहीं बन पाते हैं.

लड्डू बनने के बाद सख्त(हार्ड) हो जाते हैं ?

अगर गरम बेसन में तगार डाल कर मिक्स करें तो वह प्तला हो जाता है और फिर अगर हम उसे ठंडा होने के बाद उससे लड्डू बनाते हैं तो वो जम कर थोड़े हार्ड लड्डू बन जाते हैं. या फिर लड्डू बना कर इन्हें फ्रिज में रख दें तो भी यह हार्ड हो जाते हैं.

लड्डू का मिश्रण बिखर रहा है और लड्डू नहीं बंध पा रहे हों तो क्या करें ?

अगर मिश्रण को बहुत ज्यादा देर तक छोड़ दिया जाए और वह बहुत ठंडा हो जाए तब इसमें आप तगार मिला रहे हों या फिर तगार मिलाने के बाद उसे बहुत देर तक के लिए ऎसे ही छोड़ दिया हो और मिश्रण एकदम ठंडा हो गया हो. त्ब आप लड्डू बांधेंगे तो बंधते नहीं हैं और बिखरने लगते हैं. इसे ठीक करने के लिए मिश्रण में थोड़ा सा घी गरम करके मिक्स कर दीजिए तो वह ठीक हो जाएगा और लड्डू आसानी से बंध जाएंगे.

लड्डू में पीला लकर लाने के लिए आप मिश्रण में खाने वाला पीला रंग मिला सकते हैं या आप इसमें बिलकुल थोडी़ सी हल्दी भी डाल सकते हैं. 250 ग्राम बेसन से लड्डू बनाने में ¼ छोटी चम्मच हल्दी डाल सकते हैं.
लड्डू में ड्रायफ्रूट अगर भून कर डाले जाएं तो इससे लड्डू की शैल्फ लाइफ ज्यादा हो जाती है. ड्राय फ्रूट में नमी होती है अगर इन्हें भून लिया जाए तो इनकी नमी खत्म हो जाती है और इनका स्वाद भी बढ़ जाता है.
नटमेग नहीं डालना चाहें तो नहीं डालें.